Buziness Bytes
फस्र्ट टेक  अबीर चैरिटेबल ट्रस्ट के चौथे  संस्करण  की  घोषणा फस्र्ट टेक  अबीर चैरिटेबल ट्रस्ट के चौथे  संस्करण  की  घोषणा
RSS
Facebook
Facebook
Google+
Twitter
LinkedIn
Follow by Email
अबीर चैरिटेबल ट्रस्ट के चौथे  संस्करण की वार्षिक कला प्रतियोगिता एवं कला-प्रदर्शनी, फस्र्ट टेक 2019, पूरे देश के आधुनिक युवा कलाकारों के लिए फार्म जमा... फस्र्ट टेक  अबीर चैरिटेबल ट्रस्ट के चौथे  संस्करण  की  घोषणा

अबीर चैरिटेबल ट्रस्ट के चौथे  संस्करण की वार्षिक कला प्रतियोगिता एवं कला-प्रदर्शनी, फस्र्ट टेक 2019, पूरे देश के आधुनिक युवा कलाकारों के लिए फार्म जमा करने का आव्हान। 06 जून से फाइन  ऑनलाइन सब्मिशन शुरू। 

 

 

मेरठ: अबीर चैरिटेबल ट्रस्ट ने हथीसीइिंग विजुअल आर्ट सेंटर में आज अपने वार्षिक फस्र्ट टेक कला कार्यक्रक के आरंभ की घोषणा की। अपने चौथे  सत्र में, फस्र्ट टेक 2019 में छोटे शहरों व ग्रामीण क्षेत्रों सहित पूरे भारत के कलाकारों से प्रविष्टियां आमंत्रित की गई हैं। हैं। श्री उमंग हथसीइंग, श्री सुबोध केलकर, सुश्री बृंदा मिलर, श्री जयंति रबाडिया और श्री वीर मुंशी वाली मशहूर जूरी द्वारा कलाकारों की जमा की गई कृतियां शाॅर्टलिस्ट की जायेंगी और उनका मूल्यांकन किया जायेगा। आयोजन के सामपन पर, 19 नवंबर, 2019 को सम्मान समारोह आयोजित होगा, जिसके बाद कला प्रदर्शनी का उद्घाटन किया जायेगा।

Ms. Ruby Jagrut, Founder Trustee of ABIR Charitable Trust

 

फस्र्ट टेक 2019 के लिए कलाकृति जमा करने का ऑनलाइन आवेदन 06 जून से 16 जुलाई, 2019 तक खुला रहेगा, जबकि भौतिक कलाकृति जमा करने की अंतिम तिथि 06 सितंबर, 2019 को होगी। प्रस्तुत करने के प्रारंभिक दौर के बाद, प्रविष्टियां फिर कुछ दिनों की अवधि में जूरी सदस्यों द्वारा शॉर्टलिस्ट और जज किया जाएगा। 7 दिनों के लिए सर्वश्रेष्ठ कलाकृतियों का प्रदर्शन किया जाएगा, जबकि विभिन्न श्रेणियों का प्रतिनिधित्व करने वाले 10 कलाकारों को एक विशेष पुरस्कार समारोह में सम्मानित किया जाएगा।
घटना के बारे में बोलते हुए, अबीर चैरिटेबल ट्रस्ट की संस्थापक ट्रस्टी सुश्री रूबी जागृत ने कहा, “अबीर कलाकारों और कला पारखी लोगों के लिए एक कैनवास है, जो रंगों को मनाने के लिए एक साथ आते हैं। यह कला बनाने वाले लोगों और कला से प्यार करने वाले लोगों के माध्यम से कला को मनाने के आसपास एक सामुदायिक पहल है। अबीर में हमारा प्रयास युवा कलाकारों को उनकी सुंदर कला और कला की सराहना करने वाले लोगों के बीच की खाई को पाटना है। पिछले तीन संस्करण हमारे देश के दूरदराज के क्षेत्रों से अधिक से अधिक प्रतिभागियों के साथ पूरा कर रहे हैं, उनके काम को न्याय करने और प्रदर्शित करने के लिए भेज रहे हैं। हम अधिक से अधिक युवा कलाकारों तक पहुंचने का प्रयास करते रहेंगे और अपनी कला को एक ऐसी आवाज देंगे जो उनके लक्षित दर्शकों तक पहुंच सके। ”
अहमदाबाद, एक विरासत शहर, पारंपरिक और समकालीन कला दोनों के लिए अपने प्यार और प्रशंसा के लिए जाना जाता है। अबीर फस्र्ट टेक 2019 अपनी कला, स्थापना और मूर्तिकला का प्रदर्शन करने के लिए भारत के भीतरी इलाकों से युवा कलाकारों के लिए एक बहुत आवश्यक मंच प्रदान करके इसे आगे बढ़ाता है।

 

काॅर्पोरेट सहयोगों/हस्तक्षेपों के जरिए युवा कलाकारों को समर्थन देने के महत्व के बारे में बताते हुए, क्लेरिस के वीसी और एमडी, श्री अर्जुन हांडा ने कहा, ‘‘कला के प्रति उत्साह रखने वाले एक कला प्रेमी के रूप में, मैंने इन वर्षों में देखा है कि भारत में आधुनिक कला परिदृश्य में काफी बदलाव आया है और यह विविधतापूर्ण हुआ है। देश के कोने-कोने में अपार प्रतिभाएं मौजूद हैं, जो बेहद सृजनशील हैं। हालांकि, उपयुक्त मंचों एवं अवसरों की कमी के चलते अभी भी सब तक नहीं पहुंचा जा सका है। अबीर फस्र्ट टेक के जरिए, मेरा उद्देश्य अधिक संपूर्ण एवं टिकाऊ तरीके से इन कलाकारों को समर्थन देना और प्रोत्साहित करना है। मुझे इस पहल का हिस्सा होने पर गर्व है जिसने पूरे भारत के कलाकारों को एक साथ लाया है और उन्हें एक बड़ा मंच प्रदान किया है। साथ ही, मुझे लगता है कि कला के प्रति झुकाव रखने वाले हम सभी के लिए भी यह महत्वपूर्ण है कि देश में मौजूद प्रतिभा के प्रोत्साहन हेतु अधिक व्यापक रूप से एक सहयोगपूर्ण ढांचे की स्थापना करें।’’
अबीर फस्र्ट टेक की परिकल्पना 2016 में की गई थी और इसने उसी वर्ष पहली कला प्रतियोगिता और कार्यक्रम आयोजित किया। इसके बाद फिर टेक 2017 आया। पिछले साल, फस्र्ट टेक 2018, लगभग 2000 प्रविष्टियाँ देखी गई, जिनमें से 106 को शॉर्टलिस्ट किया गया और 10 कलाकारों को सम्मानित किया गया।
इच्छुक प्रतिभागी जमा करने की प्रक्रिया के बारे में अधिक जानने के लिए निम्न वेबसाइट पर जा सकते हैंः http://www.abirindia.org/index

Please follow, like and share us:
error

Webmaster - BuzinessBytes

No comments so far.

Be first to leave comment below.

Your email address will not be published. Required fields are marked *